Friday, October 7, 2022
Homebreking newsक्या दुनिया खत्म होने है?क्या अब इंसान नहीं रह पाएंगे जिंदा ?देखिए...

क्या दुनिया खत्म होने है?क्या अब इंसान नहीं रह पाएंगे जिंदा ?देखिए हैरान करने वाली सच्चाई सामूहिक आत्महत्या के मुहाने पर आधी इंसानियत;

दुनिया के कई हिस्से इस समय मौसम की मार झेल रहे हैं। यूरोप, अमेरिका और चीन में भीषण गर्मी ने कहर बरपा रखा है. जंगल की आग भी गर्मी का एक प्रमुख कारण है। फ्रांस, स्पेन, पुर्तगाल समेत करीब 10 देशों में जंगल जल रहे हैं। राजनीतिक अस्थिरता के दौर से गुजर रहा ब्रिटेन भीषण गर्मी से हिल गया है।
मौसम विज्ञानियों ने भविष्यवाणी की है कि गर्मी के सभी रिकॉर्ड टूट सकते हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने आशंका व्यक्त की है कि लोग बीमार हो सकते हैं और यहां तक ​​कि गर्मी से उनकी मौत भी हो सकती है। इसके चलते अधिकारियों ने राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दी है। देश में पहली बार गर्मी के रिकॉर्ड टूटने की आशंका है.
ब्रिटेन इस समय सहारा के रेगिस्तान से भी ज्यादा गर्म है, जिसके चलते वहां के लोगों को वर्क फ्रॉम होम के लिए कहा गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि देश में पहली बार पारा 40 डिग्री सेल्सियस को पार कर सकता है. अगर ऐसा होता है तो यह पहली बार होगा। अत्यधिक तापमान का पिछला रिकॉर्ड 38.7 डिग्री है जो 2019 में बना था। नॉटिंघमशायर, हैम्पशायर और ऑक्सफ़ोर्डशायर में स्कूल गर्मियों से बंद हैं।
संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: सामूहिक आत्महत्या के कगार पर आधी मानवता
संयुक्त राष्ट्र ने भीषण मौसम को लेकर चिंता व्यक्त की है। संगठन के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि जंगल की आग और गर्मी की लहरों के कारण केवल आधी मानवता सामूहिक आत्महत्या के कगार पर पहुंच गई है।
गुटेरेस ने जलवायु संकट पर 40 देशों की बैठक में मंत्रियों से कहा, “बाढ़, सूखा, भयंकर तूफान और जंगल की आग से आधी मानवता को खतरा है।” कोई भी देश इससे निपटने में सक्षम नहीं है। फिर भी हम जीवाश्म ईंधन की लत नहीं छोड़ रहे हैं।

खबरें और भी हैं…
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के उपग्रहों ने 13 जुलाई को पृथ्वी के अधिकांश हिस्सों में लू के कारण 40 डिग्री से अधिक तापमान दर्ज किया था।
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के उपग्रहों ने 13 जुलाई को पृथ्वी के अधिकांश हिस्सों में लू के कारण 40 डिग्री से अधिक तापमान दर्ज किया था।
यूरोप के 10 से ज्यादा देशों में जल रही आग
स्पेन: स्पेन में 36 जगहों पर जंगल में आग लग रही है. 22 हजार हेक्टेयर जंगल जल गया है। दक्षिण-पश्चिम स्पेन में पारा 44 डिग्री सेल्सियस से ऊपर और देश के बाकी हिस्सों में 40 डिग्री तक पहुंच गया है। देश में अब तक 20 आग पर काबू पा लिया गया है।
स्पेन में 36 से ज्यादा जगहों पर आग जल रही है, जिसमें से 2 दर्जन जंगल की आग पर अभी भी काबू पाया जा सका है. बचाव और राहत कार्य के लिए देश के कुल 2/3 अग्निशामकों को तैनात किया गया है।
स्पेन में 36 से ज्यादा जगहों पर आग जल रही है, जिसमें से 2 दर्जन जंगल की आग पर अभी भी काबू पाया जा सका है. बचाव और राहत कार्य के लिए देश के कुल 2/3 अग्निशामकों को तैनात किया गया है।
पुर्तगाल: उत्तर में जंगल में आग लगने से दो लोगों की मौत हो गई है. 12,000 एकड़ से अधिक प्रभावित हुआ है। पुर्तगाल में पारा एक हफ्ते में 47 डिग्री के शिखर को छू गया है, जो जुलाई में एक नया रिकॉर्ड है।
पुर्तगाल में एक हजार से ज्यादा दमकलकर्मी आग पर काबू पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. जून में ही यहां भीषण सूखे की चेतावनी दी गई थी।
पुर्तगाल में एक हजार से ज्यादा दमकलकर्मी आग पर काबू पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. जून में ही यहां भीषण सूखे की चेतावनी दी गई थी।
चीन: शंघाई समेत कई शहर भीषण गर्मी का सामना कर रहे हैं. लोग गर्मी से बचने के लिए अंडरग्राउंड शेल्टर में जा रहे हैं। शंघाई समेत 68 शहरों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। शंघाई के ढाई करोड़ लोगों को लू के प्रति सचेत कर दिया गया है।
चीन में भीषण गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई की सड़कें पूरी तरह सुनसान नजर आ रही हैं. इक्का-दुक्का लोग ही जरूरी काम से बाहर जा रहे हैं।
चीन में भीषण गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई की सड़कें पूरी तरह सुनसान नजर आ रही हैं. इक्का-दुक्का लोग ही जरूरी काम से बाहर जा रहे हैं।
फ्रांस: फ्रांस के दक्षिण-पश्चिम में हर बोर्डे के पास एक हफ्ते से जंगलों में आग लगी हुई है. 14,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। पारा 33 डिग्री को पार कर गया है। भविष्य में नए कीर्तिमान स्थापित होंगे।
फ्रांस के 22 हजार एकड़ में फैले जंगल में लगी आग से 12 हजार लोगों को बचाया गया. 3000 से ज्यादा दमकलकर्मी आग बुझाने में लगे हैं।
फ्रांस के 22 हजार एकड़ में फैले जंगल में लगी आग से 12 हजार लोगों को बचाया गया. 3000 से ज्यादा दमकलकर्मी आग बुझाने में लगे हैं।
अमेरिका: अमेरिका में 5.58 करोड़ लोग यानी करीब 17 फीसदी आबादी गर्मी की चपेट में है. मौसम विभाग के अनुसार इस सप्ताह के मध्य तक दक्षिण, पश्चिम और मध्य पश्चिम में खतरनाक स्तर की गर्मी का अनुमान है। आगे चलकर स्थिति और खराब होगी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन देश में जलवायु आपातकाल लगाने पर विचार कर रहे हैं।
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन इस हफ्ते देश में जलवायु आपातकाल की घोषणा कर सकते हैं। गर्मी से बेहाल लोग बड़ी संख्या में समुद्र के किनारे पहुंच रहे हैं, जिससे वहां मेले जैसा माहौल बन गया है.
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन इस हफ्ते देश में जलवायु आपातकाल की घोषणा कर सकते हैं। गर्मी से बेहाल लोग बड़ी संख्या में समुद्र के किनारे पहुंच रहे हैं, जिससे वहां मेले जैसा माहौल बन गया है.

बहुचर्चित खबरें