Friday, October 7, 2022
HomebusinessGoat Farming : 10-20% के निवेश से करे आज ही बकरी पालन...

Goat Farming : 10-20% के निवेश से करे आज ही बकरी पालन सरकार भी करेगी मदद ,जाने कैसे करे अप्लाई

Goat Farming: ग्रामीण क्षेत्रों में किसान बकरी पालन और खेती कर अपनी आय बढ़ा सकते हैं। बकरी पालन व्यवसाय चलाने के लिए राष्ट्रीय सरकार द्वारा पशुपालकों को सब्सिडी प्रदान की जाती है। बकरी पालन एक छोटा व्यवसाय उद्यम है जिसमें लाभ की काफी संभावनाएं हैं। अगर इसे बड़े पैमाने पर शुरू किया जाए तो इसमें लाखों रुपये मिल सकते हैं. आज बहुत से लोग बकरी पालन को व्यवसाय के रूप में अपनाकर अच्छा खासा पैसा कमाते हैं।

यह भी पड़े SARIYA CEMENT :घर बनाने वालो के लिए खुशखबरी, सरिया सीमेंट के रेटो में आयी भारी गिरावट जानिए नए रेट

यदि व्यवसाय को सही तरीके से शुरू किया जाए तो इससे अच्छा लाभ प्राप्त किया जा सकता है। इस अनुदान में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा ऋण प्रदान किया जाता है। ऐसे में राष्ट्रीय सरकार द्वारा पशुपालकों को 90 प्रतिशत तक की सहायता प्रदान की जाती है। आपको केवल 10% निवेश करना चाहिए। आज हम आपको ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से मध्यप्रदेश सरकार के पशुपालन विभाग द्वारा चलाई जा रही बकरी पालन योजना की जानकारी प्रदान करते हैं ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें।

मध्य प्रदेश में बकरी पालन की क्या योजना है?

बकरी पालन कार्यक्रम मध्यप्रदेश पशुपालन विभाग द्वारा चलाया जा रहा है। इस योजना के तहत कोई भी जमींदार, कृषि श्रमिक या छोटा या मध्यम (छोटा) किसान आवेदन कर सकता है। सरकार बकरी पालन को बढ़ावा देगी। इसके तहत बैंक को कर्ज दिया जाएगा और किसानों को सब्सिडी दी जाएगी। इस कार्यक्रम के तहत स्थानीय देशी बकरियों और अन्य नस्लों की बकरियों को विभिन्न अनुदान दिए जाएंगे। इसके अलावा बकरियां खरीदने पर अनुदान का लाभ भी दिया जाएगा। इसके अलावा यूनिट की स्थापना के बाद तीन माह के आधार पर बकरी के चारे की राशि भी उपलब्ध कराई जाएगी। राज्य के किसान इस कार्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • बकरी पालन योजना मध्य प्रदेश का उद्देश्य प्रदेश में देशी बकरियों की नस्ल सुधारना है।
  • इस कार्यक्रम के साथ सरकार का उद्देश्य लाभार्थियों की आर्थिक स्थिति में सुधार करना है।
  • इसके अलावा इस कार्यक्रम के माध्यम से राज्य में मांस और दुग्ध उत्पादन को बढ़ाया जाएगा।

इस योजना से किन किसानों को होगा लाभ

  बकरी पालन कार्यक्रम : मध्यप्रदेश सरकार के सभी स्तरों के भूमिहीन लोगों, कृषि श्रमिकों, छोटे और मध्यम किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा।  इसके लिए लाभार्थी के पास बकरियां पालने का अनुभव होना चाहिए।  यह कार्यक्रम राज्य के सभी क्षेत्रों में समान रूप से लागू किया गया है।  इस कार्यक्रम में लाभार्थी (लाभार्थी) को कम से कम 10 बकरियों और बकरियों को पालना शुरू करना होगा।

बकरी पालन कार्यक्रम मध्य प्रदेश की पात्रता/शर्तें 

आवेदक को बकरी पालन का कुछ ज्ञान होना चाहिए।  इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान का मध्यप्रदेश का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।यह कार्यक्रम राज्य के सभी जिलों में इसी तरह से लागू किया गया है।भूमिहीन किसान, कृषि श्रमिक, सरकार के सभी स्तरों के छोटे और मध्यम उद्यम इस कार्यक्रम के लिए पात्र होंगे।

यह भी पड़े PM Kisan Khad Yojana: किसानों को खाद खरीदने के लिए सरकार द्वारा दिए जायेंगे 11 हजार रुपए

बकरी प्रजनन कार्यक्रम की लागत (10 + 1) बकरियों का विवरण

  बकरी प्रजनन इकाई मध्य प्रदेश में पशुपालन विभाग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम की लागत इस प्रकार है-

  • आवेदक आधार कार्ड
  • आवेदक की पहचान
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते के विवरण की पासपोर्ट कॉपी
  • आधार ने आवेदक का मोबाइल नंबर कनेक्ट किया है
  • आवेदक के पासपोर्ट का फोटो साइज

बकरी पालन कार्यक्रम में चयन प्रक्रिया

बकरी पालन कार्यक्रम के लाभार्थियों को दिये गये प्रस्ताव को ग्राम सभा द्वारा अनुमोदित किया जायेगा। जनपद पंचायत की बैठक में ग्राम सभा द्वारा स्वीकृत हितग्राहियों को प्रवेश दिया जायेगा। इसके बाद, उप निदेशक, क्षेत्रीय पशु कल्याण विभाग अनुमोदन के लिए बैंक को अधिकृत मामला प्रस्तुत करके अनुमोदन प्राप्त करेगा।

बकरी फार्म कार्यक्रम:

अनुदान के आधार पर नर बकरी वितरण कार्यक्रम
मध्य प्रदेश में बकरी पालन कार्यक्रम के तहत पशुपालन विभाग ने नर बकरियां उपलब्ध कराने का कार्यक्रम शुरू किया है. ऐसे में अनुदान के आधार पर उन्नत नस्ल की बकरी प्रदान की जाती है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य देशी और स्थानीय बकरियों की नस्ल में सुधार करना है। यह प्रणाली राज्य के सभी क्षेत्रों में भी लागू है।

बहुचर्चित खबरें