Friday, October 7, 2022
Homeauto mobileAUTO MOBILE : अब टेस्ला को टक्कर देने वाली EV कपंनी ने...

AUTO MOBILE : अब टेस्ला को टक्कर देने वाली EV कपंनी ने ली भारत में एंट्री, जानिए कब होंगी लॉन्च

AUTO MOBILE: दुनिया में सबसे ज्यादा इलेक्ट्रिक वाहन बेचने वाली कंपनी BYD ने भारतीय बाजार में कदम रख दिया है. कंपनी ने चेन्नई में अपना प्रोडक्शन प्लांट स्थापित किया है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि कंपनी भारत में त्योहारी सीजन में अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार लॉन्च कर सकती है। गौरतलब है कि भारत ईवी वाहनों का हब बन गया है। इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार सब्सिडी दे रही है। यही वजह है कि दुनियाभर की ऑटो कंपनियां भारत की तरफ रुख कर रही हैं। आपको बता दें, BYD चीन की एक कार कंपनी है।

BYD भारत में निर्माण करने के लिए
बीवाईडी भारतीय बाजार को लेकर काफी गंभीर नजर आता है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि उनकी कई कारों को अगले साल दिल्ली में होने वाले ऑटो एक्सपो में देखा जा सकता है. फिलहाल कंपनी भारत में असेंबल करना शुरू करेगी, लेकिन आने वाले समय में भारत में ही मैन्युफैक्चरिंग करने की योजना है। यह अगले दो वर्षों में भारत में 10,000 कारों को असेंबल करने जा रही है। कंपनी इस कार को चेन्नई के पास श्रीपेरंबदूर में अपने असेंबलिंग प्लांट में असेंबल करेगी। माना जा रहा है कि आने वाले फेस्टिव सीजन में कंपनी की इस कार को भारतीय बाजार में देखा जा सकता है.

यह भी पड़े Urfi javed:चांदी का वर्क चिपकाकर urfi javed ने कराया बोल्ड फोटो शूट,देखकर फैंस भी चौक गए

BYD की टेस्ला की तुलना में अधिक बिक्री है
दुनिया की सबसे मशहूर इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला को हाल ही में बिक्री के मामले में बीवाईडी ने पीछे छोड़ दिया था। जनवरी-जून 2022 के आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि इस दौरान टेस्ला ने सिर्फ 5.6 लाख इलेक्ट्रिक वाहन बेचे थे, जबकि बीवाईडी बाजार में 6.4 लाख इलेक्ट्रिक वाहन बेचने में सफल रही थी। आपको बता दें, दिग्गज निवेशक वॉरेन बफेट ने भी बीवाईडी में पैसा लगाया है।

ईवी बाजार के बढ़ने से प्रदूषण पर लगाम लगाने में भी मिलेगी मदद
देश में बढ़ते प्रदूषण की वजह से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकारों तक कई तरह की नीतियां बनाई जा रही हैं. वाहनों से निकलने वाला धुआं भी इसका एक बड़ा कारण है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा था कि वाहनों के लिए वैकल्पिक ईंधन के इस्तेमाल पर जोर दिया गया है. उन्होंने कहा कि कच्चे तेल के आयात को कम करने के साथ-साथ प्रदूषण कम करने के लिए इन वाहनों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

यह भी पड़े Amisha Patel:47 साल की उम्र में भी कहर बरसा रही ग़दर फिल्म की हीरोइन, मलाइका को नहीं पीछे छोड़ा बैडरूम की फोटोज वायरल

गडकरी ने कहा कि देश में 35 फीसदी प्रदूषण डीजल और पेट्रोल से होता है। इसलिए हमें आयात मुक्त, लागत प्रभावी, प्रदूषण मुक्त और स्वदेशी उत्पादों की आवश्यकता है। देश की पहली इलेक्ट्रिक डबल-डेकर वातानुकूलित बस के शुभारंभ पर बोलते हुए, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि डीजल वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहन बहुत अधिक लागत प्रभावी हैं।

बहुचर्चित खबरें