Bee Farming : इस बिज़नेस को कम लागत में शुरू कर सकते लाखों की कमाई, सरकार दे रही है 90% सब्सिडी

Bee Farming : अगर आप बिजनेस करने का सोच रहे हो तो आप मधुमक्खी पालन की शुरुआत कर बिल्कुल कम लागत में अधिक मुनाफा कमा सकते हैं मधुमक्खी पालन में मेहनत बीच काफी कम लगती है और आपको मुनाफा देख मिलेगा इसमें ज्यादा श्रम की आवश्यकता नहीं होती है मधुमक्खी पालन हेतु सरकार द्वारा प्रशिक्षण भी दिया जाता है एवं सब्सिडी भी दी जाती है यहां एक तगड़ा मुनाफा देने वाला व्यवसाय है बड़ी संख्या में किसान इस व्यवसाय से जुड़कर काफी मोटा मुनाफा कमा रहे है सरकार इस व्यवसाय से जुड़ने के लिए किसानों को प्रोत्साहित हेतु कई कार्यक्रम चला रही है.

मधुमक्खी पालन हेतु सब्सिडी योजना

सरकार द्वारा लगातार मधुमक्खी पालन व्यवसाय हेतु लोगों को प्रोत्साहित करने का कार्य किया जा रहा है सरकार द्वारा इस व्यवसाय में सब्सिडी भी प्रदान की जा रही है अलग अलग राज्य सरकारें अपनी ओर से इच्छुक किसानों को सब्सिडी दे रही है बिहार सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन हेतु किसानों को 90% तक की सब्सिडी दी जा रही है एवं शहद के लिए कॉलोनी सहित मधुमक्खी बॉक्स ,मधु निष्कासन यंत्र और प्रसन्नकरण के लिए सामान्य वर्ग के किसानों को 75% एवं sc-st वर्ग के किसानों को 90% तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है एवं झारखंड सरकार द्वारा इसे मीठी क्रांति भी कहा जाता है इस क्रांति के तहत किसानों को सरकार 80% तक की सब्सिडी देती है.

यह भी पढ़िए – PM Aawash Yojana : प्रधानमंत्री आवास योजना की नई लिस्ट हुई जारी फटाफट यहां चेक करे अपना नाम

कम लागत में शुरू करें मधुमक्खी पालन

मधुमक्खी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए बहुत कम लागत लगती है. विशेषज्ञ के अनुसार 10 पेटी से मधुमक्खी पालन शुरुआत करने पर आपको लगभग 30 से 35 हजार तक का मामूली खर्च आएगा। मधुमक्खियों की संख्या अपने आप बढ़ती जाती है और इन मधुमक्खियों से आप शहद उत्पादन कर उसे अच्छे खासे दाम में बेचकर मोटा मुनाफा कमा सकते हैं. मधुमक्खियों मक्खियों को रखने के लिए मोम के डब्बे की आवश्यकता होती है. एक डिब्बे में लगभग 50 से 60 हजार मधुमक्खियां रखी जा सकती है और यह आपको एक क्विंटल शहद देंगी।

मधुमक्खी पालन हेतु ऐसी जगह की होती है आवश्यकता

मधुमक्खी पालन हेतु ऐसी जगह का चुनाव करना चाहिए जहां पर नमी हो जगह सुखी हो और प्राकृतिक वातावरण हो आसपास पानी का स्रोत होना जरूरी है हवा और पेड़ पौधे उपलब्ध होना चाहिए। जो मधुमक्खियों को पराग उपलब्ध करवाएं मधुमक्खी पालन के दौरान बॉक्स को ऊर्जा से बचाना चाहिए। आसपास फूलों की उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए एवं मधुमक्खियों को होने वाली बीमारी से बचाव हेतु आप अपने नजदीकी कृषि विभाग से सलाह ले सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े