Earthquake : रिक्टर स्केल पर भूकंप की 7.2 रही तीव्रता 24 घंटे में भूकंप का दूसरा झटका लगा ताईवान में, जानिए क्या है पूरी खबर

Earthquake

Earthquake : रिक्टर स्केल पर भूकंप की 7.2 रही तीव्रता 24 घंटे में भूकंप का दूसरा झटका लगा ताईवान में, जानिए क्या है पूरी खबर चीन के साथ लंबे समय से चली आ रही तनातनी के बीच शनिवार और रविवार के दिन ताइवान के लिए काफी तनावपूर्ण रहे। शनिवार के बाद यहां रविवार दोपहर को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। रविवार को 7.2 तीव्रता का भूकंप आया, जिससे यहां सरकार की टेंशन बढ़ गई।

ताइवान में फिर आया भूकंप : चीन के साथ लंबे समय से चली आ रही तनातनी के बीच शनिवार और रविवार ताइवान के लिए काफी तनावपूर्ण रहे। शनिवार के बाद यहां रविवार दोपहर को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। रविवार को 7.2 तीव्रता का भूकंप आया, जिससे यहां सरकार की टेंशन बढ़ गई। दरअसल, 24 घंटे के अंदर यह दूसरा भूकंप था। इससे पहले शनिवार को ताइवान में 6.4 तीव्रता का भूकंप आया था।

यह भी पढ़े : पीएम मोदी के हाथ में दिख रहा कैमरा, आपके होश उड़ा देगा जानिये कीमत

शनिवार रात को आया 6.6 तीव्रता का भूकंप

आपको बता दें कि ताइवान के पूर्वी तटीय इलाके में शनिवार रात 6.6 तीव्रता का भूकंप आया था। राहत की बात यह है कि इस भूकंप से कोई जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने कहा कि भूकंप रात करीब साढ़े नौ बजे आया। उत्तरी तटीय शहर ताइतुंग से लगभग 50 किमी. इसका केंद्र 10 किमी की गहराई पर था। भूकंप की सूचना मिलते ही टीम राहत कार्य में जुट गई। आपको बता दें कि ताइवान के लिए भूकंप कोई नई बात नहीं है। यहां अक्सर भूकंप के झटके आते रहते हैं। दरअसल, ताइवान दो टेक्टोनिक प्लेटों के जंक्शन के बीच स्थित है।

यह भी पढ़े : आप भी शादी करने वाले हो तो जरूर पूछें ये 4 सवाल, खुशहाल रहेगी शादीशुदा जिंदगी

लोग तनाव में, लेकिन अभी सुनामी का खतरा नहीं

लगातार दो बार आए भूकंप के झटकों से लोग तनाव में हैं। उन्हें सुनामी का भी डर है, लेकिन आपको बता दें कि ताइवान में भूकंप की तीव्रता 7.0 तीव्रता होने तक सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की जाती है। हालांकि 6.0 तीव्रता के भूकंप भी काफी विनाश का कारण बन सकते हैं, यह भूकंप के स्थान और गहराई पर निर्भर करता है। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने भी इस बात की पुष्टि की है कि ताइवान में ऐसे भूकंप से नुकसान की संभावना कम है। हालांकि मामूली नुकसान हो सकता है। भूकंप के मामले में काफी हद तक जापान में भी यही स्थिति बनी हुई है। बार-बार भूकंप के झटके भी आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े