Friday, October 7, 2022
HomeदेशSARIYA CEMENT :घर बनाने वालो के लिए खुशखबरी, सरिया सीमेंट के रेटो...

SARIYA CEMENT :घर बनाने वालो के लिए खुशखबरी, सरिया सीमेंट के रेटो में आयी भारी गिरावट जानिए नए रेट

सरिया का नया रेट: घर बनाने वालों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट, यहां एक क्लिक में बार, ईंट और सीमेंट की कीमतें पाएं। अगर आप भी अपना घर बनाने की सोच रहे हैं तो जल्द ही इसे बनाना शुरू कर दें। ऐसा मौका बार-बार नहीं आता। हम ऐसा इसलिए कहते हैं क्योंकि ईंट-सीमेंट-बार जैसी निर्माण सामग्री की कीमतों में काफी गिरावट आई है।

सरिया आज के नए अपडेट को रेट करें

हम बताएंगे कि कुछ समय पहले निर्माण सामग्री की कीमतें रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई थीं, लेकिन अब सीमेंट और लाठी की कीमतों में फिर से गिरावट आई है। मानसून, नई सरकारी दरों और मांग में कमी के कारण इनकी कीमतों में गिरावट आई है।

यह भी जानिए :Urea Dap Rate: किसानो को लिए खुशखबरी डीएपी के साथ यूरिया के दामों में भी होने लगी कमी ,यहाँ देखे Dap Urea के नए रेट

सरिया आज के नए अपडेट को रेट करें

75,000 रुपये प्रति टन के हिसाब से बिकने वाले टीएमटी बार की कीमत अब 65,000 रुपये है

अप्रैल में, 75,000 रुपये प्रति टन के खुदरा मूल्य पर बेचे जाने वाले टीएमटी बार की कीमत अब 65,000 रुपये प्रति टन के करीब पहुंच गई है। बार का खुदरा मूल्य 60 रुपये प्रति टन से भी कम हो गया, जो अप्रैल में 80 हजार का आंकड़ा पार कर गया था। इतना ही नहीं, ब्रांडेड बार की कीमत भी 1 लाख रुपये प्रति टन से घटकर 85 हजार रुपये प्रति टन से कम हो गई है।

सरिया आज के नए अपडेट को रेट करें

सीमेंट की कीमत में बड़ी गिरावट

सामान्य सीमेंट की कीमत भी 315 रुपये प्रति बोरी है। सीमेंट की कीमतों में भी भारी गिरावट आई है। जहां अप्रैल में सीमेंट की 50 किलो बोरी की कीमत 450 रुपये को पार कर गई।

यह भी जानिए :Aadhaar-Voter ID Linking: सरकार का कहना है ‘आधार-वोटर आईडी लिंकिंग जरूरी नहीं जानिए क्या है वजह

सरिया आज के नए अपडेट को रेट करें

अब इसकी कीमत 400 रुपये से भी कम हो गई है। बिड़ला उत्तम सीमेंट के एक बैग की कीमत पहले 400 रुपये थी जबकि अब इसकी कीमत कम हो गई है। इसी तरह, बिड़ला सम्राट की कीमत 440 रुपये से गिरकर 420 रुपये प्रति बोरी और एसीसी सीमेंट की कीमत 450 रुपये से गिरकर 440 रुपये प्रति बोरी हो गई।

इस दौरान ईंट की कीमतों में भी गिरावट आई। ईंट की कीमत 1 लाख रुपये गिरकर 2 लाख रुपये प्रति हजार पीस पर आ गई। दिल्ली-एनसीआर में 1,000 ईंट नंबर एक की कीमत 5,500 रुपये, दूसरे नंबर की हजार ईंट की कीमत 4,500 रुपये और तीसरे नंबर की हजार ईंट की कीमत 3,500 रुपये है। सीमेंट की छड़ और गिट्टी कम होने से मकान बनाना थोड़ा आसान हो गया। जनवरी में जब बार रेट बढ़ने लगा तो यह दोगुना हो गया। गर्मी के मौसम में अत्यधिक महंगाई के कारण लोगों ने घरों पर निर्माण कार्य बंद कर दिया। हालांकि, पिछले साल मार्च और अप्रैल से लाठी की कीमतों में गिरावट शुरू हो गई थी, जो मई तक काफी कम हो गई थी, लेकिन फिर बारिश का मौसम शुरू होते ही फिर से लाठी के दाम बढ़ने लगे. निकट भविष्य में बार की कीमतें बढ़ेंगी या गिरेंगी, इस बारे में व्यापारी कुछ नहीं कह पा रहे हैं।

यह भी जानिए :Malika Arora : देर रात रूप की रानी बनकर इनके साथ डिनर डेट पर पहुंचीं मलाइका अरोड़ा

घर बनाना बहुत मुश्किल था
सीमेंट और रॉड की गिरती कीमतों से पीएम योजना के लाभार्थियों को सबसे बड़ी राहत मिलेगी। चूंकि सरकार उन्हें आवास योजना के लिए केवल एक निश्चित राशि का भुगतान करती है, इसलिए पीएम आवास योजना का निर्माण कार्य सीमेंट बार की दोगुनी लागत के कारण बंद कर दिया गया था, क्योंकि यदि लाभार्थियों ने बार और सीमेंट को बढ़ी हुई दर पर खरीदा था, तो निर्धारित राशि घर बनाना लगभग असंभव होगा

2 हजार रुपये प्रति मीट्रिक गिरावट
बार की कीमत  8,200 रुपये प्रति क्विंटल होने से लोगों के लिए बेरियम सीमेंट खरीदना मुश्किल हो गया। कई लोगों ने अपने घरों का निर्माण कार्य रोक दिया है। बार पर दो हजार रुपये का सीधा अंतर था, हालांकि बार की कीमत फिर से बढ़ने लगी।

सीमेंट 25 से 60 रुपये सस्ता हो गया है, खासकर सीमेंट की कीमतों में विशेष रूप से हाल के दिनों में सीमेंट की कीमतों में 25 से 60 रुपये प्रति 1 बैग की कमी आई है। पहले सीमेंट 400 रुपये प्रति बोरी मिलता था, अब सीमेंट 340 से 360 रुपये प्रति बोरी मिलता है, ऐसे में सीमेंट और रॉड की कीमतों में गिरावट का फायदा मिलने से लोगों को काफी रहत मिलती है

बहुचर्चित खबरें