Indian Railways : IRCTC का नया नियम ट्रेन में महिलाओं को मिलेगी कंफर्म सीट, रेल मंत्री ने किया ऐलान

Indian Railways

Indian Railways : IRCTC का नया नियम ट्रेन में महिलाओं को मिलेगी कंफर्म सीट, रेल मंत्री ने किया ऐलान रेल मंत्री ने कहा कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास में महिलाओं के लिए छह बर्थ रिजर्व होंगी। रेलवे ने रिजर्व बर्थ के निर्धारण सहित कई सुविधाएं शुरू की हैं।

Indian Railway News :अब महिलाओं को ट्रेन में सीट के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। रेलवे की ओर से महिलाओं के लिए एक बड़ा ऐलान किया गया है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने महिलाओं को ध्यान में रखते हुए एक बड़ा ऐलान किया है। नई घोषणा के अनुसार, भारतीय रेलवे बस और मेट्रो ट्रेनों की तरह महिलाओं के लिए भी सीटें आरक्षित करेगा।

महिलाओं के लिए सीट रिजर्व
अब रेलवे द्वारा लंबी दूरी की ट्रेनों में महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित की गई हैं (ट्रेनों में महिला यात्रियों के लिए विशेष बर्थ)। इसके अलावा महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी योजना तैयार की जा रही है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि ट्रेनों में महिलाओं की सुविधा के लिए भारतीय रेलवे ने रिजर्व बर्थ के निर्धारण सहित कई सुविधाएं शुरू की हैं।

यह भी पढ़े : आप भी करवाने वाले कार की सर्विस, तो इन बातों का रखें खास ध्यान नहीं तो पड़ सकता है पछताना

स्लीपर क्लास में छह बर्थ आरक्षित
रेल मंत्री ने कहा कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर क्लास में छह बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगी। राजधानी एक्सप्रेस, गरीब रथ और दुरंतो सहित पूरी तरह से वातानुकूलित एक्सप्रेस ट्रेनों के थर्ड एसी (3एसी क्लास) में छह बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित की गई हैं।

ट्रेन के प्रत्येक स्लीपर कोच में छह लोअर बर्थ, थ्री टियर एसी कोच में चार से पांच लोअर बर्थ और टू टियर एसी सीनियर सिटीजन, 45 साल और उससे अधिक उम्र की महिलाओं और गर्भवती महिलाओं के लिए तीन से चार लोअर बर्थ आरक्षित हैं।

यह भी पढ़े : भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह का हो रहा एक वीडियो वायरल, जानिए अक्षरा सिंह के प्राइवेट विडिओ लीक की पूरी सच्चाई

अश्विनी वैष्णव ने कहा कि महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) जीआरपी और जिला पुलिस यात्रियों को सुरक्षा मुहैया कराएगी। इसके अलावा ट्रेनों और स्टेशनों पर महिलाओं समेत अन्य यात्रियों की मदद के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े