Tuesday, September 27, 2022
Homeउन्नत खेतीSoybean Price: किसानो के लिए बड़ी खुशखबरी जल्द बड़ेगे सोयाबीन के भाव?...

Soybean Price: किसानो के लिए बड़ी खुशखबरी जल्द बड़ेगे सोयाबीन के भाव? एक्सपर्ट ने दी पूरी जानकारी

Soybean Price:सोयाबीन का दाम पिछले साल 10,000 रुपये प्रति क्विंटल को पार कर गया था. इस साल भी किसानों को सोयाबीन का रेट (Soybean Price) ऐसा ही रहने की उम्मीद है. इसलिए उन्होंने बिक्री की बजाय भंडारण पर फोकस किया है. लेकिन क्या उनका अनुमान सही निकलने वाला है. या फिर इस साल रेट में वृद्धि नहीं होगी. सोयाबीन (Soybean) के उत्पादन के मामले में मध्य प्रदेश के बाद महाराष्ट्र देश का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है. प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में यह सबसे आगे है. लेकिन किसानों को इस साल पहले जैसा दाम नहीं मिल रहा है. हालांकि जो दाम मिल रहा है वह न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) से अधिक ही है. साल 2021-22 के लिए सरकार ने सोयाबीन का एमएसपी 3950 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है. जबकि अभी 6000 रुपये तक का औसत दाम चल रहा है.

ये भी पढ़िए :किसान भाइयो के लिए खुशखबरी DAP खाद में आयी भरी गिरावट जानिए नए रेट,

आखिर इस साल अब तक सोयाबीन के दाम में क्यों इजाफा नहीं हुआ. जबकि खाद्य तेलों का दाम आसमान पर है. सोयाबीन महत्वपूर्ण दलहनी फसल है. ओरिगो ई-मंडी के असिस्टेंट जनरल मैनेजर (कमोडिटी रिसर्च) तरुण सत्संगी के मुताबिक सरकार के कुछ अहम फैसलों की वजह से इस साल सोयाबीन के दाम में इजाफे की उम्मीद नहीं है.

ये भी पढ़िए :Urfi Javed Look:इस बार उर्फी ने पर्पल कपडे को लपेटकर ही बना ली ऐसी ड्रेस ,फैंस भी देखकर हुए हैरान

विशेषज्ञ ने बताई वजह?

सरकार ने सालाना 20-20 लाख टन क्रूड सोयाबीन ऑयल और सूरजमुखी तेल (Sunflower Oil) के आयात पर सीमा शुल्क और एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर सेस को मार्च 2024 तक खत्म कर दिया है. वित्त मंत्रालय की ओर जारी अधिसूचना के अनुसार सालाना 20 लाख टन कच्चे सोयाबीन और सूरजमुखी तेल पर वित्त वर्ष 2022-23 और 2023-24 में आयात शुल्क नहीं लगाया जाएगा. इस निर्णय के साथ 5 फीसदी प्रभावी सीमा शुल्क और उपकर को शून्य कर दिया जाएगा और वित्त वर्ष 2022-23 और 2023-24 में कुल 80 लाख टन क्रूड सोयाबीन ऑयल और क्रूड सूरजमुखी तेल के शुल्क मुक्त आयात की अनुमति दी जाएगी.

कितना रह सकता है सोयाबीन का भाव

सत्संगी का कहना है कि पाम ऑयल के एक्सपोर्ट पर रोक हटाने के इंडोनेशिया के हाल के फैसले के साथ ही केंद्र सरकार के ताजा फैसले से सोयाबीन की कीमतों में कमजोरी की आशंका है. उनका कहना है कि शॉर्ट टर्म में सोयाबीन का भाव 6,700-7,300 रुपये की रेंज में कारोबार करने की संभावना है. सप्लाई बढ़ने के साथ ही मांग सीमित रहने से भाव नीचे में 6,000 रुपये के स्तर तक आ सकता है. तरुण कहते हैं कि चूंकि अभी सोयाबीन की फसल की बुआई होनी है और ऐसे में लंबी अवधि में भाव को लेकर कुछ कह पाना मुश्किल है. हालांकि नई फसल आने तक भाव में ज्यादा तेजी के आसार कम हैं.

बहुचर्चित खबरें