Friday, October 7, 2022
HomeMBBSMP Local : जबलपुर में निजी अस्पताल में आग, 8 की मौत,...

MP Local : जबलपुर में निजी अस्पताल में आग, 8 की मौत, बाहर निकलने का बस यही एक रास्ता था

MP Local : मध्य प्रदेश के जबलपुर में सोमवार दोपहर 2:45 बजे एक निजी अस्पताल में आग लग गई। हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई। इनमें 4 स्टाफ भी हैं। 8 की हालत गंभीर है।

प्रशासन ने बताया कि तीन मंजिला न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल के एंट्रेंस पर जनरेटर में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी। हादसे के वक्त अस्पताल में 35 लोग थे इसलिए आशंका जताई जा रही थी कि मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। अस्पताल प्रबंधन का कोई बयान अभी तक नहीं आया है। हादसे की जांच जबलपुर डिवीजनल कमिश्नर बी चंद्रशेखर करेंगे।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने हादसे पर दुख जताया और मृतक के परिजनों को 5-5 लाख मुआवजा देने का ऐलान किया है।

यह भी जाने : 2022 में शुरू कर यह बिजनेस, फर्श से अर्श तक पहुंचने की संपूर्ण जानकारी

8 मृतकों में से 7 की पहचान, 2 एक ही परिवार के थे

1. वीर सिंह (30 वर्ष), निवासी आधारताल, जबलपुर (स्टाफ सदस्य)
2. स्वाति वर्मा (24), निवासी- नारायणपुर, सतना (स्टाफ सदस्य)
3. महिमा जाटव (23), निवासी- नरसिंहपुर (स्टाफ सदस्य)
4. दुर्गेश सिंह (42), निवासी- आगासौद, जबलपुर
5. तन्मय विश्वकर्मा (19), खटीक मोहल्ला (जबलपुर)
6. अनुसूइया यादव (55), निवासी- चित्रकूट, मानिकपुर (यूपी)
7. सोनू यादव (26), चित्रकूट, मानिकपुर (यूपी)
8. महिला (फिलहाल पहचान नहीं)

चश्मदीद बोलीं- धमाका हुआ और आग फैल गई

एक चश्मदीद महिला का कहना है कि लाइट गई, तो जनरेटर चालू किया। चिंगारी निकली और धमाका हुआ, इसके बाद आग फैल गई। जनरेटर अस्पताल के मुख्य दरवाजे के करीब ही रखा था और आने-जाने का एकमात्र रास्ता भी यही था।

दूसरे फ्लोर पर ज्यादा मौतें, यहीं ज्यादा लोग फंसे थे

बिल्डिंग के दूसरे फ्लोर पर ज्यादा लोगों की मौत हुई है, क्योंकि ज्यादातर लोग वहीं फंसे थे। आग लगने के बाद मरीजों को बचाने के दौरान कुछ लोग अंदर गए, जो बाहर नहीं निकल सके। लपटें इतनी तेज थीं कि कमरे में फंसे लोगों को बाहर निकालना बेहद मुश्किल हो गया। कुछ लोगों को खिड़की और दरवाजे तोड़कर बाहर निकाला गया।

यह भी जाने : Honda Activa 6G यहां मिल रही बेहद सस्ते दाम में, बेहतरीन फीचर्स से लैस इस स्कूटी को जल्दी करें अपने नाम

जनरेटर में हुआ शॉर्ट सर्किट और आग फैलती चली गई
अस्पताल तीन मंजिला है, जिसमें बेड की संख्या 30 है। अस्पताल संचालकों के नाम डॉक्टर सुदेश पटेल, संतोष सोनी, निशांत गुप्ता और संजय पटेल हैं। इनकी तरफ से अभी तक हादसे पर कुछ भी नहीं कहा गया है। SP सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि दोपहर के वक्त लाइट चली गई थी। इसी दौरान जनरेटर चालू हुआ और इससे हुए शॉर्ट सर्किट की वजह से आग फैल गई।

बहुचर्चित खबरें