Saturday, October 8, 2022
Homeदेश विदेशदेश विदेश : बदलते जमाने में भी पुरानी परंपराएं आज भी मौजूद...

देश विदेश : बदलते जमाने में भी पुरानी परंपराएं आज भी मौजूद हैं, यहां पक्षियों के अंडे देखकर पता चलता है कि कब बारिश हो रही है!

देश विदेश : आज भी देश के ग्रामीण क्षेत्रों में लोग जलवायु विभाग की अपेक्षा अपनी प्राचीन परम्पराओं को अधिक मानते हैं और उसी के आधार पर खेतों में बुवाई आदि का कार्य करते हैं। तो आइए जानते हैं ये दिलचस्प मामला…

समय बदल गया है, विज्ञान में सुधार हुआ है, लेकिन दुनिया के कई हिस्सों में पुरानी परंपराएं अभी भी मौजूद हैं और न केवल जारी हैं, बल्कि लोगों को इन परंपराओं पर पूरा विश्वास है। इसी तरह ग्रामीण बुंदेलखंड में भी ऐसी परंपरा है, जहां पक्षियों के अंडों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि कब बारिश होगी और कितनी!

वर्तमान में मौसम विभाग की शाखा मौसम की जानकारी प्रदान करने के लिए उपलब्ध है जो आधुनिक तकनीक का उपयोग करके सटीक मौसम की जानकारी प्रदान करती है, लेकिन ग्रामीण बुंदेलखंड और देश के अन्य हिस्सों में आज भी मौसम के पूर्वानुमान का अभ्यास किया जाता है। दरअसल, बुंदेलखंड के निवाड़ी जिले के जियार गांव में आज भी हमें तिथार नामक पक्षी के अंडे दिखाई देते हैं, जिसके इस साल बारिश होने का अनुमान है! बुंदेलखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में, यह परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है और अब वैज्ञानिक काल में भी व्यापक रूप से प्रचलित है।

ऐसा माना जाता है कि एक तिथर अंडे की संख्या और एक साथ रखे गए अंडों की संख्या और आकार में अंतर, मानसून के मौसम में वर्षा की मात्रा निर्धारित करता है। टाइट्री पक्षी देश भर में पाया जाता है और केवल 3-4 अंडे देता है। इस पक्षी की खास बात यह है कि यह किसी पेड़ या ऊंची जमीन पर अपने अंडे नहीं देता है, बल्कि यह अपने अंडे खुले मैदान में या नदी के किनारे, नालों के पास, खोखली जमीन में देता है। टाइटल अंडे मिट्टी के रंग के होते हैं। अंडे देने के बाद टिट्री अंडे से दूर रहती है ताकि किसी को उनके अंडे के बारे में पता न चले।

लोगों का मानना है कि अगर दो तिथी अंडे मिल जाएं तो इसका मतलब है कि इस साल दो महीने अच्छी बारिश होगी। वहीं, अंडों की संख्या में अंतर होता है, ऐसा माना जाता है कि उन महीनों में बारिश कम होगी। वहीं, मौसम मंत्रालय के मुताबिक इस साल 18 जून को मानसून मध्य प्रदेश में दस्तक देगा। ऐसे में अच्छी बारिश का अनुमान है।

विदेशों में जाएगा देश का गेहूं, नहीं लगेगा मंडी टैक्स

बहुचर्चित खबरें