Friday, October 7, 2022
HometrendingProject Cheetah : PM नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर स्पेशल विमान से नामीबिया...

Project Cheetah : PM नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर स्पेशल विमान से नामीबिया से भारत आएंगे चीते,  इस अवसर पर बानी पेंटिंग ने लोगो का दिल जित लिया

Project Cheetah : PM नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर स्पेशल विमान से नामीबिया से भारत आएंगे चीते,  इस अवसर पर बानी पेंटिंग ने लोगो का दिल जित लिया नामीबिया से 8 बाघ भारत आ रहे हैं। उन्हें लेने के लिए एक विशेष विमान नामीबिया पहुंच गया है। इसे चित्रों से सजाया गया है। अपने जन्मदिन पर पीएम मोदी इन चीतों को देश को सौंपेंगे।

PM Modi का जन्मदिन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन यानि 17 सितंबर इस साल खास होने वाला है। इस दिन देश में विलुप्त होती धरती पर सबसे तेज दौड़ने वाले जंगली जानवर चीतों की आमद होने वाली है। दरअसल, 70 साल बाद नामीबिया से 8 चीते भारत आने वाले हैं। उन्हें लेने के लिए एक विशेष विमान नामीबिया पहुंच गया है। पीएम मोदी इन चीतों को मध्य प्रदेश के कुनो-पालपुर नेशनल पार्क में रिहा करेंगे।

यह भी पढ़े : अब कार माल‍िकों को म‍िलेगी यह सुव‍िधा, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री न‍ित‍िन गडकरी ने बताई सरकार की योजना

पेंटिंग से सजे खास विमान

इन चीतों को लेने नामीबिया पहुंचे विशेष विमान को खूबसूरत पेंटिंग से सजाया गया है। प्लेन में टाइगर की पेंटिंग लगाई गई है। बताया जा रहा है कि इस विशेष विमान के जरिए पहले चीतों को नामीबिया से जयपुर लाया जाएगा। इसके बाद उसी दिन हेलीकॉप्टर को मध्य प्रदेश के कुनो-पालपुर राष्ट्रीय उद्यान लाया जाएगा। जिसे पीएम मोदी अपने जन्मदिन पर देश को सौंपेंगे।

भारतीय उच्चायोग ने शेयर की तस्वीरें

नामीबिया में भारतीय उच्चायोग ने ट्विटर पर इस विशेष विमान की तस्वीरें साझा करते हुए कहा कि बाघों की भूमि पर सद्भावना राजदूतों को लेने के लिए एक विशेष पक्षी दूत बहादुर की भूमि में आया है।

यह भी पढ़े : साउथ की ये फेमस एक्ट्रेस भी ले चुकी हैं तलाक, जानिए किस किस का हुआ तलाक

70 साल बाद आ रहे हैं चीते

गौरतलब है कि भारत में चीतों को पुनर्स्थापित करने के लिए लंबे समय से प्रयास किया जा रहा है और इसी क्रम में वर्ष 2009 में केंद्र और राज्य सरकारों के साथ अंतर्राष्ट्रीय चीता विशेषज्ञों की एक बैठक आयोजित की गई थी। वर्ष 2010 में एक सर्वेक्षण किया गया था। चीता बहाली के लिए भारतीय वन्यजीव संस्थान द्वारा पूरे भारत में 10 संभावित क्षेत्रों का संचालन किया गया था। इन संभावित 10 स्थलों में से, कुनो अभयारण्य (वर्तमान कुनो राष्ट्रीय उद्यान, श्योपुर) सबसे उपयुक्त पाया गया। चीतों की बहाली के संबंध में पर्याप्त अध्ययन की कमी के कारण, वर्ष 2013 में, सुप्रीम कोर्ट ने चीतों को भारत लाने पर प्रतिबंध लगा दिया।

बहुचर्चित खबरें