Salary Increment : खुशखबरी सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और साहिकाओ की सैलरी बढ़ाने का लिया फैसला, जानिए क्या है पूरी खबर

Salary Increment

Salary Increment : खुशखबरी सरकार ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और साहिकाओ की सैलरी बढ़ाने का लिया फैसला, जानिए क्या है पूरी खबर आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता और सहायिकाओं के लिए सरकार के तरफ से आई बड़ी खुशखबरी, इतनी बढ़ेगी इनकी सैलरी, जाने कोरोना महामारी के दौरान देश में आंगनवाड़ी कर्मियों, सहायकों और आशा कार्यकर्ताओं के योगदान की सराहना करते हुए संसद की एक समिति ने सरकार से इनके वेतन भुगतान को सुनिश्चित करने और अतिरिक्त मानदेय एवं वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने पर विचार करने की सिफारिश की है।

सैलरी, मानदेय बढ़ाने की सिफारिश

समाजवादी पार्टी के सांसद रामगोपाल यादव की अध्यक्षता वाली स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संबंधी संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट में यह बात कही गई है। टीके का विकास, वितरण, प्रबंधन एवं कोविड का न्यूनीकरण शीर्षक वाली यह रिपोर्ट राज्यसभा के सभापति को सौंपी गई।

कोरोना के दौरान बेहतरीन काम

समिति ने यह भी सिफारिश की है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को टीके की खुराक के अंतराल को लेकर और शोध करना चाहिए और इसके अनुरूप ही अपनी टीकाकरण की नीति तैयार करनी चाहिए।

यह भी पढ़े :  इन राशि वालों का राज योग इस तरह है, होगी धन वर्षा जानिये कोनसी राशि वालो पर होगी

समिति ने की काम की सराहना

रिपोर्ट के अनुसार समिति ने समुदायों में कोविड जागरूकता अभियान में सक्रिय भागीदारी के लिये आंगनवाड़ी कर्मियों, सहायकों और आशा कार्यकर्ताओं, मान्यता प्राप्त स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना की।

अग्रिम मोर्चे पर रहे तैनात 

समिति ने कहा कि आंगनवाड़ी कर्मियों, सहायकों और आशा कार्यकर्ताओं ने महामारी के दौरान अग्रिम मोर्चे के योद्धा के रूप में काम किया और कोविड और सुरक्षा प्रोटोकॉल के बारे में जागरूकता फैलाने में अहम भूमिका निभाई।

यह भी पढ़े : रियलमी ने लांच किया ये स्मार्टफोन, देखे फीचर्स और कीमत, और इसके डिजाइन के दीवाने है लोग

WHO ने भी की है तारीफ

रिपोर्ट में कहा गया कि आशाकर्मियों को कोरोना पॉजिटिव मामलों की पहचान करने एवं टीका लगाने के अभियान में शामिल किया गया था। संसदीय समिति ने कहा कि आंगनवाड़ी कर्मियों, सहायकों और आशा कार्यकर्ताओं ने सामुदायिक निगरानी के कार्यों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी और इसकी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े