Friday, October 7, 2022
Homeउन्नत खेतीKheti News : सितंम्बर में करे इन फसलो की खेती और पाए...

Kheti News : सितंम्बर में करे इन फसलो की खेती और पाए लाखो रूपये का मुनाफा

Kheti News : काम करने से पहले योजना बनाना हर क्षेत्र में सफलता की कुंजी साबित होता है। अगर किसान को यह जानकारी हो कि किस महीने में कौन सी फसल बोनी है और किस महीने उगाई जाए तो यह उसके लिए बहुत फायदेमंद होता है। ऐसी कई सब्जियां हैं जो सितंबर के महीने में बोई जाती हैं। इनसे किसानों को अच्छा मुनाफा होता है। सितंबर के महीने में मानसून की बारिश समाप्त हो जाती है और शरद ऋतु के आगमन की ओर बदल जाती है।

मेरठ बागवानी विभाग ने कार्य योजना वर्ष 2021-22 के तहत आम, अमरूद, लीची, पपीता, फूल और सब्जियों के लिए 89 हेक्टेयर का लक्ष्य हासिल कर लिया है. प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत ड्रॉप मोर क्रॉप योजना में 2436 हेक्टेयर का लक्ष्य हासिल किया गया है। इसके अलावा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए अलग से कार्य योजना तैयार की गई है.


गाजर, मूली, चुकंदर, मटर, आलू, शलजम, अजवायन, सलाद पत्ता, पत्ता गोभी, ब्रोकली, पत्ता गोभी, बीन्स और टमाटर जैसी सब्जियां बोने से इसकी वृद्धि तेजी से होती है। जिससे इसके लाभ भी जल्दी-जल्दी मिलते हैं। जानकारों का कहना है कि सितंबर के महीने में इन सब्जियों की बुवाई करने से बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है.

यह भी पड़े DAP UREA :किसानो के लिए खुल्मखुला लूट का मौका डीएपी यूरिया , मिलेंगी आधे रेट में जानिए

जमा हुए आलू को कोल्ड स्टोरेज से हटा कर रखें

जिला उद्यान अधिकारी मेरठ गमपाल सिंह ने जिले के सभी आलू भंडारण लोगों से आलू की निकासी में तेजी लाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि अभी तक केवल 23 प्रतिशत आलू ही कोल्ड स्टोरेज में निकाला गया है। जो पिछले साल की तुलना में काफी कम है। पिछले साल इस समय तक 43 फीसदी आलू साफ हो चुका था। मौजूदा समय में अगर आलू की निकासी में तेजी नहीं आई तो अक्टूबर और नवंबर के महीनों में मंजूरी बढ़ने पर आलू के बाजार भाव में गिरावट की पूरी संभावना है. उन्होंने दुकानदारों से अपील की है कि जमा हुए आलू को कोल्ड स्टोरेज से हटा लें, ताकि भविष्य में उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े.

बहुचर्चित खबरें