Weather Update : मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी इन राज्यों में कहर ढाएगी बारिश, देखिये कहा हो सकती है बारिश

Weather Update

Weather Update : मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी इन राज्यों में कहर ढाएगी बारिश, देखिये कहा हो सकती है बारिश मानसून का मौसम जल्द खत्म होने वाला है। उधर, उत्तर भारत के राज्यों में भारी बारिश की गतिविधियां जारी हैं। ऐसे में जानिए राजधानी दिल्ली समेत देशभर में बारिश और आज के मौसम का हाल

मौसम पूर्वानुमान आज अपडेट : क्या होने जा रहा है, आइए जानते हैं आज के मौसम का हाल। उत्तर भारत के कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। उत्तर प्रदेश के मौसम की बात करें तो भारी बारिश से भरे पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के मुताबिक यह सिलसिला 21 सितंबर तक जारी रहने वाला है। मौसम विभाग के ताजा अलर्ट में सितंबर से 19 से 21 सितंबर, छत्तीसगढ़, झारखंड में 20, पूर्वी मध्य प्रदेश (एमपी रेन अलर्ट) और विदर्भ में 20 से 21 सितंबर तक बारिश की संभावना है।

आज बारिश कहाँ है?
हालांकि, आज देश के अधिकांश हिस्सों में मौसम साफ रहने की उम्मीद है। लेकिन फिर भी असम, मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर, त्रिपुरा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। नॉर्थ ईस्ट के मौसम विभाग के मुताबिक, असम और मेघालय में कल बारिश होने की संभावना है।

यह भी पढ़े : अपने पार्टनर की ये हरकते देख कर जाने, वो सेल्फिश है या नहीं

दिल्ली एनसीआर के लिए मौसम का पूर्वानुमान क्या है?
दिल्ली में बीते दिनों हुई बारिश से तापमान में गिरावट साफ देखी गई है। बारिश की सौगात दिल्ली की जनता के लिए खुशनुमा मौसम की सौगात लेकर आई है। वहीं आईएमडी की माने तो आज भी आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे, लेकिन बारिश की संभावना नहीं है।

भारी बारिश की चेतावनी
यूपी की राजधानी में भारी बारिश से हाहाकार मच गया तो राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भी बुधवार से रुक-रुक कर बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक यूपी में दो दिन बाद मौसम फिर करवट ले सकता है। इससे आने वाले दो से तीन दिनों में भारी बारिश की संभावना है। आईएमडी के मुताबिक, 1901 के बाद यह चौथी बार हो सकता है जब सितंबर के महीने में इतनी बारिश हुई हो। मौसम विभाग के दस्तावेजों के मुताबिक सितंबर 1917 में 285.6 मिलीमीटर बारिश हुई थी।

यह भी पढ़े : राजीव सेन ने चारू असोपा को लेकर लिया बड़ा फैसला तलाक कैंसिल होने के बाद, जानिए क्या है एक्ट्रेस का रिएक्शन

सितंबर में बारिश
इसका पहला कारण प्रशांत महासागर के ऊपर बने अल नियो का प्रभाव है, जिसने मानसून को दबा दिया, फिर जुलाई में कम बारिश हुई। दूसरा कारण यह था कि बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र इसके लगातार बनने के कारण भारी बारिश का कारण बनता है। वहीं, आईएमडी के मुताबिक कम दबाव वाला सिस्टम 10 दिनों तक सक्रिय रहता है। इसके लगातार बनने से सितंबर में भारी बारिश होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े