ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ? भारत देश के लगभग हर हिस्से में गेहूं का उत्पादन किया जाता है Best wheat variety 2022 हमारे जीवन में शायद ही ऐसा कोई दिन जाता हो जब हम गेहूं की रोटी नहीं खाते गेहूं हमारे आहार का महत्वपूर्ण वस्तु है Best wheat variety 2022 जब तक रोटियां ना खाई जाए तो खाने का मजा ही नहीं आता शायद इसलिए लोग सबसे ज्यादा गेहूं की रोटियां खाना पसंद करते हैं।

ये भी पढ़िए :TMKOC:तारक मेहता की रीता रिपोर्टर डांस करते करते हो गयी रोमांटिक, कर दिया डायरेक्टर को ही Lip kiss

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ? Best wheat variety 2022 रवि का सीजन चालू होने वाला है और ऐसे में अगर आप अपने खेत में गेहूं लगाने की तैयारी कर रहे हैं तो आइए आज हम आपको बताते हैं गेहूं की ऐसी 24 उन्नत किस्मों के बारे मे आइए आपको बताते हैं Best wheat variety 2022 गेहूं की उन्नत किस्मों के बारे में जिसकी पैदावार और विशेषताएं गेहूं की खेती करके बंपर मुनाफा कमा सकते हैं रवि का सीजन चालू होने वाला है और ऐसे में अगर आप अपने खेत में गेहूं लगाने की तैयारी कर रहे हैं तो आइए आज हम आपको बताते हैं best wheat variety in india गेहूं की ऐसी 24 उन्नत किस्मों के बारे मे .

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

1 – लोकवन  (LOK -1)

गेहूं की यह किस्म  100 से 110 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और अगर इसकी उपज की बात करें तो 40 से 45 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज देती है best wheat variety जल्दी पकने के कारण इसकी उपज सामान्य वाह पीछे थी दोनों बुवाई की परिस्थितियां अच्छी होती हैं

2 – डब्ल्यू एच 147  (WH147)

यह किस्म लगभग 125 से 130 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और लगभग 40 से 50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उपज देती है gehoon kee best unnat kismen इसके दाने बड़े आकार के शरबती बा अंबर रंग के होते हैं इसके साथ साथ यह किस्म सामान्य वालों की स्थिति व संचित क्षेत्रों दोनों के लिए उपर्युक्त है

3 – राज 3077

यह किस्म में 100 से 110 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसके ऊपर लगभग 40 से 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है यह सामान्य व खेती बुवाई दोनों ही परिस्थितियों के लिए ठीक है इसका तना मोटापा मजबूत होने के कारण यह कैसे जल्दी आ रही नहीं होती

4 -पूसा 1620

यह किस्म 125 से 140 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसकी ऊपर क्षमता लगभग 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर से अधिक हो सकती है यह सामान्य बुवाई के लिए उपर्युक्त है

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

5 – करण वंदना (DBW187)

यह किस्म लगभग 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है best wheat variety इसकी उपज की बात करें तो इसके ऊपर क्षमता लगभग 65 क्विंटल प्रति हेक्टेयर हो सकती है यह किस में सामान्य भाई और संचित दोनों ही क्षेत्रों के लिए उपर्युक्त है

6 -पूसा गौतमी एचडी 3086

यह किस्म लगभग 130 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है gehoon kee best unnat kismen इसके ऊपर क्षमता 70 क्विंटल प्रति हेक्टेयर से अधिक हो सकती है यह किस्म भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली ने वर्ष 2014 में विकसित की थी यह सामान्य बुवाई और संचित क्षेत्रों दोनों के लिए उपर्युक्त है

7 – जीडब्ल्यू 190 (GW 190)

यह किस्म जीडब्ल्यू 190 क्या सुनो लगभग 115 से 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और लगभग 45 से 55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उपाधि देती है।

8 – राज 3765

यह किस्म लगभग 110 दिन से 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इस किस्म की ओपन क्षमता 40 से 45 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है इसका तना मजबूत होता है इसलिए यह गिरती नहीं है Best wheat variety 2022 यह रोली प्रतिरोधक क्षमता युक्त किस में मानी जाती है और पीछेती बुवाई के लिए अच्छी होती है।

9 -जी डब्ल्यू 273 (GW 273)

यह किस्म 110 दिन से 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी ऊपर लगभग 40 से 50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है यह चश्मा भूरी रोली और काली रोली अब रोधी होती है सामान्य देरी से बुवाई के लिए यह भी उपायुक्त है ।

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

10 – राज 3777

राज 3777 यह किस्म लगभग पंचानवे से 100 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी औसत ऊपर लगभग 40 से 45 क्विंटल प्रति हेक्टेयर मानी जाती है।

11 -जीडब्ल्यू 322 (GW 322)

 यह किस्म लगभग 120 से 125 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है gehu ki best variety सामान्य औसत की बुवाई पर यह लगभग 50 से 55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक की उपज दे सकती है यह कृष्णा संचित और सामान्य बुवाई के लिए उपर्युक्त होती है ।

ये भी पढ़िए :जलवे बिखेरने आ रहा Samsung का सबसे सस्ता 5G फोन, देख आप भी कहेंगे- तुमसे मिलने की तमन्ना है, खरीदने का इरादा है

12 – राज 4037

राज 4037 यह किस्म लगभग 115 से 125 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसकी औषध उत्पादन 55 से 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होता है यह किस्म पर्याप्त सिंचाई और उर्वरता वाले क्षेत्रों के लिए उपर्युक्त है इस पौधे की ऊंचाई भी कम होती है ।

13 -राज 4083

राज 4083 यह किस्म 115 से 120 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी औसत उपज 35 से 40 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक होती है यह किस्म सिंचित क्षेत्रों और पिछली बुवाई के लिए ठीक मानी जाती है ।

14 –राज 4120

 राज 4120  यह किस्म 115 से लेकर 125 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है इसकी उपज लगभग 45 से यह सामान्य बुवाई और सिंचित क्षेत्रों के लिए अच्छी है ।

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

15 – एच आई 1544 (HI 1544)

यह किस्म 115 दिनों से 120 दिनों में पक कर तैयार हो जाती है इसकी उपज लगभग 155 से 160 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक हो सकती है यह संचित बोनी के लिए उपर्युक्त है ।

16 – राज 407

यह किस्म लगभग 115 से 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसकी उपज 45 से 50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक हो सकती है।

कठिया गेहूं की उन्नत किस्म

17- मालवा शक्ति एच आई 8498 (HI 8798)

यह किस्म कठिया गेहूं की किस्म है यह लगभग 110 से 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी उपज लगभग 50 से 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज देती है।

18 – राज 1555

यह किस्म कठिया गेहूं की किस्म में है best wheat variety यह लगभग 125 से 135 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी उपज लगभग 40 से 50 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक उपज देती है ।

19 – एमपीओ 1215 (MPO1215)

कठिया गेहूं की यह किस्म 130 से 135 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसकी उपज लगभग 55 से 58 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज दे सकती है ।

20 -एच आई  8713 (HI 8713)

यह किस्म कठिया गेहूं की किस्म है यह लगभग 130 से 135 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसके ऊपर लगभग 150 से 155 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है यह सिंचित क्षेत्रों के लिए अनुमोदित है ।

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ?

21 – एचआई 8713 (HI 8713)

कठिया गेहूं की यह कसम 130 से 135 दिन में पक्का पूर्ण रूप से तैयार हो जाती है और इसकी उपज लगभग 55 से 60 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक उपज दे सकती है ।

क्षारीय व लवणीय क्षेत्रों की मिट्टी के लिए सबसे उपर्युक्त किस्म

22 – केआरएल 210 (KRL 210)

यह किस्म क्षारीय व लवणीय क्षेत्रों के लिए सबसे उपर्युक्त किस्म है  140 से 145 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी उत्पादन क्षमता 55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर हो सकती है ।

23- केआरएल 19 (KRL 19)

क्षारीय व लवणीय क्षेत्रों के लिए सबसे उपर्युक्त किस्म है जो 122 से 127 दिन में पक कर तैयार हो जाती है इसकी औसत उत्पादन क्षमता 30 से 35 क्विंटल प्रति हेक्टेयर हो सकती है।

24 – केआरएल 1-4 (KRL 1-4  )

क्षारीय व लवणीय क्षेत्रों के लिए बहुत अच्छी है यह किस्म लगभग 120 दिन में पक कर तैयार हो जाती है और इसकी उत्पादन क्षमता 27 क्विंटल प्रति हेक्टेयर तक उपज दे सकती है ।

ये 20 से 25 खास किस्मे भारत में सबसे ज्यादा बोई जाती है सारी किस्मे देती है बम्पर उत्पादन जानिए नाम ? Best wheat variety 2022 इसके साथ-साथ गेहूं की अच्छी पैदावार के लिए मिट्टी परीक्षण कराएं इसके साथ-साथ यूरिया या अन्य ख्वाबों का उपयोग करके भी अच्छी पैदावार की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़े